{Amazon Best Deals} [Flipkart 50% Discount Deals] [Latest Jio Offers]

Best Shayari | Hindi shayari - Love shayari - Romantic shayari

No Comments

Shayari |  Hindi shayari - Love shayari - Romantic shayari, लव शायरी Hindi love shayari collectionLove Shayari, Sad Shayari, RomanticShayari in Hindi, Sad Shayari, Cute Romantic Shayari, in Hindi to share it on Whatsapp Social Media and others


Dil Ki Gehraaion Se Aaj Ye Ikraar Karte Hain

Hum Mohabbat Aapse Beshumaar Karte Hain
Tanha Raton Mein Jab Palkein Khamosh Hon
Bus Aap Hi Ke Sapno Se Is Dil Ko Gulzaar Karte Hain

********************
Shayari |  Hindi shayari - Love shayari - Romantic shayari

Hindi shayari

Teri Ane Ki Ahhat Jab Hoti Hai.

Mann Mai Ek Khushi Ki Lehr Si Uth Thi Hai
Tumse Milke Ataa Hai Chain Mjhe
Manno Pure Hue Ho Dil Ke Armaan Mere…!

************************
रोज साहिल से समंदर का नजारा न करो,

अपनी सूरत को शबो-रोज निहारा न करो,
आओ देखो मेरी नजरों में उतर कर खुद को,
आइना हूँ मैं तेरा मुझसे किनारा न करो।


Bhar Aayi Meri Aankhen Jab Uska Naam Aaya

Ishq Nakam Sahi Phir Bhi Bahut Kaam Aaya…
Hamne Mohabbat Me Aisi Bhi Guzaari Raatein
Jab Tak Aansu Na Bahe Dil Ko Na Aaraam Aaya……!

**************************

Uske Ankhon Ke Khumar Se Dar Lagta Hai,

Apne Dil-e-Bekarar Se Dar Lagta Hai,
Baat Tumse To Hum Kabki Kar Lete,
Par Aapke Inkar Se Dar Lagta Hai

**********************

Dard Ke Lamhe Kab Hum Par Asaan Bane, 

Jo Dard Aansu Na Ban Sake Woh Toofaan Bane.

**********************

मुझसे नफरत करके भी खुश ना रह पाओगे,
मुझसे दूर जाकर भी पास ही पाओगे ,
प्यार में दिमाग पर नहीं दिल पर ऐतबार करके देखिये ,
अपने आप को रोम – रोम में बसा पाएँगे।
**********************

नशा था उनके प्यार का , जिसमें हम खो गए ,
उन्हें भी पता नहीं चला कि कब हम उनके हो गए
**********************

लिख दूँ तो लफज़ तुम हो ,
सोच लूँ तो ख्याल तुम हो ,
माँग लूँ तो मन्नत तुम हो ,
और चाह लूँ तो मोहब्बत भी तुम ही हो
************************

मुझे तो हर इन्सान में गुणों की खान नजर आती है

इस जहांं की हर चीज में खुदा की तस्वीर नजर आती है



मिटा दूँ मैं हस्ती अपनी किस किस की मुस्कान पर
हर मुस्काते चेहरे में खुदा नजर आता है



कोई कसर नहीं छोड़ी है खुदा ने इस सृष्टि को बनाने में
खुद को खुद में देखती हूँ तो भी खुदा ही नजर आता है



ये कैसी विचित्र रचना रची है रचनाकार ने
खुदा सब में और सब खुदा में ही नजर आता है

**********************

काश तुम भी साथ होते

तो ताज फिर पत्थर होता
और तुम मेरी मुमताज़....



काश तुम हाथ देती
तो सफर सिर्फ मंजिल होता
और तुम मेरी रग़बत....



काश तुम सब्र करती
तो शब में होती उल्फ़त
और इश्क हमारा फराज़...



काश मैं तेरा जिस्म होता
तो ज़िन्दगी मरकज़ होती तुम तक
और चेहरा सिर्फ नकाब....



काश तुम, चादर साथ होते
तो बिस्तर होता सिर्फ सहारा
और सांसें हमारी बातें...

*********************

नफरतो के बाजार में जीने का अलग ही मज़ा है
लोग रुलाना नहीं छोड़ते उअर हम हसना नहीं छोड़ते
**********************

एक लड़की से जादा तो एक लड़का मजबूर होता है
जो दिल टूटने के बाद भी सब के सामने रो नहीं सकता
***********************

Best of Anjum Rahbar


  • दिल की किस्मत बदल न पाएगा
    बन्धनों से निकल न पाएगा
    तुझको दुनिया के साथ चलना है
    तू मेरे साथ चल न पाएगा.

  • दोस्ती क्या है ये दुनिया को भी अंदाजा लगे
    खत उसे लिखना तो दुश्मन के पते पर लिखना.

  • साथ छूटे थे, साथ छूटे हैं
    ख्वाब टूटे थे, ख्वाब टूटे हैं
    मैं कहाँ जाकर सच तलाश करूं
    आजकल आईने भी झूठे हैं.

  • ये तमन्ना है अंजुम, चलेंगे कभी
    आपके साथ हम, आपके शहर में.

  • इतने करीब आके सदा (आवाज) दे गया मुझे
    मैं बुझ रही थी, कोई हवा दे गया मुझे.

  • जंगल दिखाई देगा अगर हम यहाँ न हों
    सच पूछिए, तो शहर की हलचल हैं लड़कियाँ.

  • उसने कहो कि गंगा के जैसी पवित्र हैं
    जिनके लिए शराब की बोतल हैं लड़कियाँ.

  • अंजुम तुम अपने शहर के लड़कों से ये कहो
    पैरों की बेड़ियाँ नहीं पायल हैं लड़कियाँ.

  • रंग इस मौसम में भरना चाहिए
    सोचती हूँ प्यार करना चाहिए.

  • प्यार का इकरार दिल में हो मगर
    कोई पूछे तो मुकरना चाहिए.

  • दिल किसी की चाहत में बेकरार मत करना
    प्यार में जो धोखा दे, उससे प्यार मत करना
    कारोबार में दिल के तजुर्बा जरूरी है
    जिंदगी का ये सौदा तुम उधार मत करना
    तू मुझे मना लेना, मैं तुझे मना लूंगी
    प्यार की लड़ाई में जीत-हार मत करना.

  • घर के लोगों को हर बात का तेरी मेरी मुलाकात का
    पायलों से पता चल गया, चूड़ियों से खबर हो गई
    मुझको खिड़की पे बैठे हुए, आज भी रात भर हो गई.

  • आज मशहूर फिर शहर में प्यार की एक कहानी हुई
    एक लड़का दीवाना हुआ, एक लड़की दीवानी हुई.

  • मेरी आँखों की गहराई में, सबने चेहरा तेरा पढ़ लिया
    आज मैं आईना देखकर पानी-पानी हुई.

  • वक्त बर्बाद करती रहती हूँ
    रोज फरियाद करती रहती हूँ
    हिचकियाँ तुझको आ रही होंगी
    मैं तुझे याद करती रहती हूँ.

  • जन्नतों को जहाँ नीलाम किया जाएगा
    सिर्फ औरत को हीं बदनाम किया जाएगा
    हम उसे प्यार इबादत की तरह करते हैं
    अब ये ऐलान, सरेआम किया जाएगा.

  • नाम मेरा लेकर छेड़ते हैं उसको
    क्यों मेरा दीवाना सबको खटकता है
    मैं हीं नहीं पागल उसकी जुदाई में
    सुनती हूँ रातों को, वो भी भटकता है
    प्यार की खुशबू में दोनों नहाए हैं
    मैं भी महकती हूँ वो भी महकता है.

  • है अगर प्यार तो, मत छुपाया करो
    हमसे मिलने खुलेआम आया करो
    दिल हमारा नहीं, है ये घर आपका
    रोज आया करो, रोज जाया करो
    प्यार करना न करना अलग बात है
    कम-से-कम वक्त पर घर तो आया करो.

  • तेरी यादों को प्यार करती हूँ
    सौ जन्म भी निसार करती हूँ
    तुझको फुर्सत मिले तो आया जाना
    मैं तेरा इंतजार करती हूँ.

  • रोशनी का जवाब होती है
    खुशबुओं की किताब होती है
    तोड़ लेते हैं हवस वाले, लड़कियाँ तो गुलाब होती है.

  • मजबूरियों के नाम पर सब छोड़ना पड़ा
    दिल तोड़ना कठिन था मगर तोड़ना पड़ा
    मेरी पसंद और थी सबकी पसंद और
    इतनी जरा सी बात पर घर छोड़ना पड़ा.

  • तमाम उम्र खुदा से यही दुआ मांगी
    खुदा करे कि तुझे मेरी बददुआ न लगे.

  • ये किसी नाम का नहीं होता
    ये किसी धाम का नहीं होता
    प्यार में जबतलक नहीं टूटे,
    दिल किसी काम का नहीं होता.

Love shayari 

Koi deewana kehta hai koi pagal samjhta hai…
magar dharti ki bechaini ko bas badal samjhta hain…
Main tujhse dur kaisa hu, tu mujhse dur kaisi hai…
Yeh tera dil samjhta hai, ya mera dil samjhta hai…

Ke mohobbat ek ehsaason ki paawan si kahaani hai…
kabhi kabira deewana tha kabhi meera diwaani hai…
Yahaan sab log kehte hain meri aakho mein aasu hain…
Jo tu samjhe toh moti hain jo na samjhe toh paani hain…

Samandar peer ke andar hain lekin ro nahi sakta…
Yeh aansu pyaar ke moti hain isko kho nahi sakta…
Meri chahat ko dulhan tu bana lena magar sun le…
Jo mera ho nahi paaya woh tera ho nahi sakta…

Bhraman koi kumudni par machal baitha toh hungama…
Jo apne dil mein koi khwaab pal baitha toh hungama…
Abhi tak doob kar sunte the sab kissa mohobbat ka…
Main kisse ko hakikat mein badal baitha toh hungama…

तेरे लिए तो हूँ मैं बस वक़्त का एक बुलबुला,
जितना जीना था जी लिया, लो अब मैं चला |
तुझे याद करता हूँ तो बढ़ जाती है तकलीफ़ें,
ऐ ज़िन्दगी तू यहीं ठहर, लो अब मैं चला |
_____________________________________
दस्तूर के लिखें पर टिकना, मुनासिब नहीं दोस्तों..
ये अक्सर मौके कम.. और धौके ज़्यादा देता है।
_____________________________________
तुम बताओ तो मुझे किस बात की सजा देते हो।
मंदिर में आरती और महफ़िल में शमां कहते हो।
मेरी किस्मत में भी क्या है लोगो जरा देख लो,
तुम या तो मुझे बुझा देते हो या फिर जला देते हो
_____________________________________
अब तो ख़ुशी का ग़म है न ग़म की ख़ुशी मुझे
बे-हिस बना चुकी है बहुत ज़िंदगी मुझे
वो वक़्त भी ख़ुदा न दिखाए कभी मुझे
उन की नदामतों पे हो शर्मिंदगी मुझे
_____________________________________
हमारा ज़िक्र भी अब जुर्म हो गया है वहाँ
दिनों की बात है महफ़िल की आबरू हम थे
ख़याल था कि ये पथराव रोक दें चल कर
जो होश आया तो देखा लहू लहू हम थे ||
_____________________________________
वो बेवफा हमारा इम्तेहा क्या लेगी…
मिलेगी नज़रो से नज़रे तो अपनी नज़रे ज़ुका लेगी…
उसे मेरी कबर पर दीया मत जलाने देना…
वो नादान है यारो… अपना हाथ जला लेगी.
______________________________________
मैं रो के आह करूँगा जहाँ रहे न रहे
ज़मीं रहे न रहे आसमाँ रहे न रहे
रहे वो जान-ए-जहाँ ये जहाँ रहे न रहे
मकीं की ख़ैर हो या रब मकाँ रहे न रहे
______________________________________
अपने घर की इज्ज़त सब को प्यारी लगती है
गैरों की बहन बेटी क्यों अबला नारी लगती है,
दुसरो की बहन बेटी को छेड़ने में बड़ा मजा आता है
खुद की बहन बेटी को कोई देखे तो मिर्ची क्यों लगती है,
______________________________________
छू ले आसमान ज़मीन की तलाश ना कर,
जी ले ज़िंदगी खुशी की तलाश ना कर,
तकदीर बदल जाएगी खुद ही मेरे दोस्त,
मुस्कुराना सीख ले वजह की तलाश ना कर
_______________________________________
उल्फत का अक्सर यही दस्तूर होता है!
जिसे चाहो वही अपने से दूर होता है!
दिल टूटकर बिखरता है इस कदर!
जैसे कोई कांच का खिलौना चूर-चूर होता है! 

Dear readers, after reading the Content please ask for advice and to provide constructive feedback Please Write Relevant Comment with Polite Language.Your comments inspired me to continue blogging. Your opinion much more valuable to me. Thank you.